LankaKand

LankaKand – ‘रामायण’ के छठवें यानि लंकाकाण्ड (युद्धकाण्ड) में लगभग पाँच हजार छः सौ बानवे श्लोकों की संख्या है। रामायण के लंकाकाण्ड में पुल निर्माण से राम-रावण युद्ध व अयोध्या वापसी तक के घटनाक्रम आते हैं। जो की आप यहाँ पढ़ सकते है। इस भाग में लंका पर चढ़ाई, समुद्र पर क्रोध, विभीषण का तिरस्कार, विभीषण का राम की शरण लेना आदि का विस्तारपूर्वक वर्णन किया गया है

Close Menu